JEE Mains 2024 Session 1 result announced now what is next how nta score is calculated


JEE Mains 2024 Result Announced, What Next: जेईई मेन्स जनवरी सेशन 2024 के नतीजे जारी कर दिए गए हैं. वे कैंडिडेट्स जिन्होंने परीक्षा में हिस्सा लिया था वे जेईई मेन्स की वेबसाइट से रिजल्ट चेक कर सकते हैं. नतीजे चेक करने के साथ ही अगर आपके मन में सवाल आता है कि एनटीए स्कोर कैसे कैलकुलेट किया जाता है तो हम इसका जवाब दे देते हैं. इसके साथ ही अब पास होने वाले कैंडिडेट्स को आगे क्या करना है इस पर भी चर्चा करते हैं.

कैसे कैलकुलेट करते हैं स्कोर

पर्सेंटाइल स्कोर कैंडिडेट्स की रिलेटिव परफॉर्मेंस शो करते हैं जो उस परीक्षा में शामिल हुए थे. जो नंबर आते हैं उन्हें 100 से 0 के स्केल में कनवर्ट किया जाता है. ये हर सेशन के कैंडिडेट्स के लिए होता है. स्टूडेंट के उस शिफ्ट में मिले टोटल अंकों को बाकी प्रेजेंट स्टूडेंट्स (जिनका स्कोर उम्मीदवार के बराबर या उससे कम है) को 100 से गुणा करते हैं. इसके बाद शिफ्ट में मौजूद टोटल स्टूडेंट्स की संख्या का भाग दिया जाता है, जो स्कोर आता है, वो स्टूडेंट्स का एनटीए स्कोर होता है.

सेवेन डेसिमल पर्सेंटाइल में एनटीए स्कोर

जेईई मेन के पहले सेशन के जारी किए जाने वाले रिजल्ट में स्टूडेंट्स के टोटल एनटीए स्कोर के साथ फिजिक्स, केमिस्ट्री  और मैथ्स के अलग अलग एनटीए स्कोर 7 डेसिमल परसेंटाइल में जारी किए गए हैं. जेईई मेन की परीक्षा अलग-अलग शिफ्टों में होती है. ऐसे में हर पारी के पेपर का डिफिकल्टी लेवल भी अलग-अलग हो सकता है. इसलिए सभी अलग-अलग शिफ्टों में स्टूडेंट्स के अपनी-अपनी शिफ्ट में रॉ स्कोर के आधार पर नॉर्मेलाइज कर 7 डेसिमल में परसेंटाइल एनटीए स्कोर के रूप में जारी की जाती है.

पहले निकलता है रॉ स्कोर

सबसे पहले हर स्टूडेंट का रॉ स्कोर निकला जाता है. उसके बाद उस स्टूडेंट के बराबर और उससे कम रॉ स्कोर वाले स्टूडेंट्स की सख्या ली जाती है, इसे 100 से गुणा कर, उस शिफ्ट में शामिल होने वाले कुल स्टूडेंट्स की संख्या से भाग देकर 7 डेसिमल में परसेंटाइल निकला जाता है. इसे ही उस स्टूडेंट का एनटीए स्कोर बोला  जाता है.

क्या है अगला पड़ाव

जो कैंडिडेट नेक्सट सेशन की परीक्षा देना चाहते हैं, वे आवेदन कर सकते हैं. अगला सेशन अप्रैल में होगा जिसके लिए आवेदन 2 मार्च तक किए जा सकते हैं. दोनों सेशन देने वाले कैंडिडेट्स का स्कोर कैलकुलेट करने के लिए दोनों सेशन के मार्क्स देखे जाते हैं. जिसका एनटीए स्कोर ज्यादा होता है, वो मान्य होता है. इसके साथ ही जो कैंडिडेट्स चाहें वे जेईई एडवांस्ड के लिए अप्लाई कर सकते हैं. बाकी छात्र काउंसलिंग के संबंध में सूचना आने का इंतजार कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें: एक पेपर बिगड़ जाए तो उसके स्ट्रेस में न खराब करें आगे के एग्जाम, ऐसे हैंडल करें सिचुएशन 

Education Loan Information:
Calculate Education Loan EMI

Leave a Comment