NMC Declares New Medical College news as fake no increase in number of medical seats for ug and pg


NMC Says No New Medical College Approved: इंटरनेट और सोशल मीडिया के इस दौर में फर्जी खबरें तेजी से अपने पैर पसारती हैं. एक जगह पर गलत न्यूज आती है और बिना किसी प्रयास के वह हर ओर फैल जाती है. ऐसा ही कुछ हुआ है मेडिकल की दुनिया में जहां नये मेडिकल कॉलेज बनने से लेकर एमबीबीएस यानी यूजी और पीजी की सीटें बढ़ने की झूठी खबर फैला दी गई है. ये खबर इतनी तेजी से फैली की एनएमसी को सामने आकर स्पष्टीकरण देना पड़ा और ये कहना पड़ा की ये फेक न्यूज है इस पर भरोसा न करें.

क्या है मामला

हाल ही में हर तरफ ये खबर फैली थी कि इस साल बहुत से नये मेडिकल कॉलेज बनेंगे, इन्हें मंजूरी मिल गई है. ऐसा होने से एमबीबीएस की और पोस्ट ग्रेजुएशन की सीटों में भी इजाफा होगा. हालांकि नेशनल मेडिकल कमीशन ने इस तरह की खबरों का खंडन किया है और साफ किया है कि एनएमसी से किसी नये मेडिकल कॉलेज को मंजूरी नहीं दी है. न नये मेडिकल कॉलेज को मंजूरी मिली है और न ही मेडिकल की यूजी और पीजी की सीटें बढ़ी हैं.

केवल वेबसाइट पर करें भरोसा

एनएमसी ने कहा है कि इस साल के मेडिकल के एप्लीकेशन अभी भी प्रोसेस में हैं और इस बाबत अगर कोई भी फैसला लिया जाता है तो इसकी खबर सबसे पहले एनएमसी की वेबसाइट पर अपलोड की जाएगी.

नोटिस में लिखा है कि मेडिकल असेस्मेंट और रेटिंग बोर्ड, एनएमसी ने किसी नेये मेडिकल कॉलेज को अप्रूवल नहीं दिया है, ना ही विभिन्न मेडिकल कॉलेजों में यूजी और पीजी की सीटें बढ़ी हैं. एकेडमिक सेशन 2024-25 के लिए अभी तक इस तरह का कोई फैसला नहीं लिया गया है.

ऐसी भ्रामक खबरों पर न दें ध्यान

एमएआरबी, एनएमसी नये कॉलेजों या सीटें बढ़ाने की परमिशन देता है. साल 2024-25 में 112 मेडिकल कॉलेजों की स्थापना के लिए एप्लीकेशन और 58 एप्लीकेशन मेडिकल की सीटें बढ़ाने के लिए आए थे पर अभी तक इन पर काम नहीं हुआ है. एनएमसी ने कहा है कि प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में इस तरह की खबरें आ रही हैं जो पूरी तरह फेक हैं. सभी संबंधित लोगों को सूचित किया जाता है कि ऐसी खबरों पर यकीन न करें. 

यह भी पढ़ें: जरूरी योग्यता रखते हैं तो इस सरकारी नौकरी के लिए तुरंत करें अप्लाई

Education Loan Information:
Calculate Education Loan EMI

Leave a Comment