UPSC Success Story IAS Saloni Verma Coaching is not important AIR 70 UPSC


IAS Saloni Verma Success Story: संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की तरफ से हर साल होने वाली सिविल सर्विस परीक्षा में हमें कई ऐसे चेहरे देखने को मिल जाते हैं जिन्होंने बिना किसी कोचिंग के परीक्षा को क्रैक किया होता है. आज हम आपको एक ऐसी ही महिला आईएएस अफसर की कहानी बताएंगे जिन्होंने बिना कोचिंग को जरूरी नहीं समझा और परीक्षा में अच्छी रैंक लेकर सबको अचंभित कर दिया.

आज हम बात करेंगे यूपीएससी परीक्षा में 70वीं रैंक पाने वाली आईएएस अधिकारी सलोनी वर्मा (IAS Saloni Verma) की. वह झारखंड से ताल्लुक रखती हैं. सलोनी ने ग्रेजुएशन पूरी करने की बाद ही यूपीएससी एग्जाम की तैयारी शुरू कर दी थी. सलोनी को अपने दूसरे प्रयास में आईएएस बनने में सफलता मिली.

इंटरेस्ट की करें पहचान

सलोनी वर्मा ने साल 2020 में हुई परीक्षा (UPSC Exam) में 70वीं रैंक प्राप्त कर अपने परिजनों का मान बढ़ाया था. उन्होंने इस एग्जाम के लिए तैयारी करने के लिए किसी भी कोचिंग की मदद नहीं ली. सलोनी कहती हैं कि परीक्षा की तैयारी के लिए सबसे महत्वपूर्ण है कि उम्मीदवार सबसे पहले अपनी इंटरेस्ट को पहचानें. जिसके बाद अभ्यर्थी अपनी प्लानिंग करें. वह कहती हैं कि यूपीएससी एग्जाम में पास होने के लिए कोचिंग जरूरी नहीं है. हालांकि सही मार्गदर्शन इस दौरान बेहद जरूरी हो जाता है.

ये काम जरूर करें अभ्यर्थी

एग्जाम पास करने के लिए कॉन्फिडेंस होना बेहद आवश्यक है. सलोनी बताती हैं कि परीक्षा से पहले सिलेबस को समझना बेहद जरूरी है. उसी के बाद तैयारी करने के लिए शेड्यूल बनाया जाना चाहिए. आईएएस सलोनी ने तैयारी करने वाले उम्मीदवारों को सलाह दी कि प्रत्येक उनके पास एक प्रभावी योजना होनी चाहिए. केवल गहन अध्ययन करने से ही सफलता प्राप्त हो सकती है. उनका मानना है कि अध्ययन के लिए हमेशा एक सही राणिनीति बनाकर उसे फॉलो जरूर करना चाहिए. उम्मीदवार आंसर राइटिंग की तैयारी जरूर करें.

यह भी पढ़ें- Jobs 2024: झारखंड से लेकर पंजाब और पश्चिम बंगाल तक, यहां चल रही है 41 हजार से ज्यादा पदों पर भर्ती, फौरन करें अप्लाई

Education Loan Information:
Calculate Education Loan EMI

Leave a Comment